Web hosting क्या है? Types of Web hosting

What is Web hosting and it's types

एक website को बनाने के लिए आपको domain और hosting की जरुरत होती है और आज के article में हम आपको web hosting के बारे में पूरी information देंगे|Web hosting क्या है| (what is web hosting in Hindi). Web hosting एक स्थान है जहाँ आपकी website host होती है| सामान्य शब्दों में, जिस प्रकार offline दुनिया में हमें अपने products को रखने के लिए एक जगह (जैसे की दुकान) की आवश्यता होती है उसी प्रकार online दुनिया में अपनी website के contents को रखने के लिए हमें web hosting की आवश्यता होती है|

दूसरे शब्दों में, website के contents जैसे कि images, videos, pages को server पर स्टोर करना पड़ता है ताकि internet पर लोग हमारी website की access कर सके| Web hosting एक प्रकार की service है जो की हमें अपनी website को internet पर प्रदर्शित कराने की सुविधा प्रदान करती है|

Web hosting कैसे काम करती है ? (How web hosting works)

Web hosting service से आपकी website की files web server में store हो जाती है| जब कोई user आपकी website का URL अपने web browser (chrome, Mozilla Firefox etc) में डालता है तो user के web browser से एक request web server में जाती है, उसके बाद request accept करने के बाद web server आपकी website की files की copy को user के browser में भेजता है और तब user आपकी website को देख सकता है|

Types of Web hosting in Hindi

Web hosting मुख्यतः 5 प्रकार की होती है –

  • Shared hosting
  • Virtual private server (VPS)
  • Dedicated hosting
  • Cloud hosting
  • WordPress hosting

1. Shared web hosting

जैसा की नाम से पता चल रहा है कि इस प्रकार की web hosting में कई सारी websites एक ही server का इस्तेमाल कर रही होती है| Shared hosting अन्य hostings से सस्ती होती है क्योकि इसमें कई सारी websites एक ही server की RAM, space और CPU इस्तेमाल करती है | इसलिए अगर आप अभी नई website बना रहे हैं तो shared hosting आपके लिए best होगी|

Shared hosting के फायदे (pros of shared hosting)
  • Basic websites के लिए best option है|
  • Shared hosting कीमत बहुत कम होती है इसलिए यह beginners के लिए best है|
  • Cpanel, user friendly होता है|
Shred hosting के नुकसान (Cons of shared hosting)
  • इस hosting में हमें resources काफी limited मिलते है|
  • shared hosting में performance और security ज्यादा अच्छी नहीं मिलती है|

2. Virtual Private Server ( VPS hosting )

VPS hosting में virtualization technique का प्रयोग किया जाता है, जिसमें एक physical server को virtually विभिन्न servers में विभाजित किया जाता है| इसी कारण एक ही sever होते हुए भी अन्य websites आपके हिस्से का web space इस्तेमाल नहीं कर सकती है| VPS hosting में shared hosting के मुकाबले अधिक disk space, computing power और bandwidth मिलता है| यदि आप कम budget में dedicated server की विशेषताओं का लाभ उठाना चाहते हैं तो VPS hosting का best option है| इसमें आपकी websites को best security और performance मिलती है|

VPS hosting के फायदे ( Pros of VPS hosting)
  • इस hosting में security, performance और privacy बहुत ही बेहतर है|
  • VPS hosting flexible होती है मतलब इसे आप अपने अनुसार customize कर सकते है|
VPS hosting के नुकसान (Cons of VPS hosting)
  • इसमें resources dedicated hosting से काम होते है|
  • VPS hosting को इस्तेमाल करने के लिए आपको technical knowledge होना चाहिए|

Dedicated Server hosting

Dedicated hosting उनको लेनी चाहिए जिनकी website पर हज़ारो-लाखो में traffic आता है| इस hosting में आपको पूरा dedicated server मिलता है आपको इसे किसी के साथ share नहीं करना पड़ता है| यह वेब होस्टिंग सबसे fast होती है| और इसमें आपको पूरा control मिलता है आप जो चाहे वो कर सकते है| Dedicated hosting में security स्तर उच्चतम होता है|

Dedicated hosting के फायदे ( Pros of Dedicated hosting )
  • Dedicated hosting में client को पूरा control दिया जाता है|
  • इसमें आपको सबसे अच्छी performance और security मिलती है|
Dedicated hosting के नुकसान (Cons of dedicated hosting)
  • यह hosting सभी hosting में सबसे महंगी है|
  • इसे पूरा control करने के लिए आपको अच्छा technical knowledge होना चाहिए|

4. Cloud  hosting

Dedicated hosting और VPS hosting में यह समस्या है इनमे resources कम मिलते है और इनमे storage की भी एक limit होती है| इसीलिए जब website के कुछ contents viral होते है तो dedicated hosting और VPS hosting में storage और capacity limited होने की वजह से समस्या उत्पन्न होती है|इन problem का solution है cloud hosting |

Cloud hosting में आपकी website सिर्फ 1 server पर नहीं बल्कि कई servers पर host होती है| इसीलिए फिछले कुछ सालो में cloud hosting काफी popular हुई है| Basically, cloud hosting में आपकी website दूसरे servers के virtual resources का इस्तेमाल करती है| Cloud hosting में downtime ना के बराबर होता है|

cloud hosting के फायदे
  • यह अधिक traffic को आसानी से handle कर सकता है
  • इसमें server down होने chances बहुत कम होते है
Cloud hosting के नुकसान
  • इसमें root access की सुविधा नहीं मिलती है|
  • Cloud hosting दूसरी hosting से थोड़ी महंगी है|

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *